बिहार बीटीएससी जीएमओ & एसएमओ भर्ती पाठ्यक्रम और चयन प्रक्रिया | Bihar BTSC GMO & SMO Syllabus and Selection Process in Hindi

Bihar BTSC GMO & SMO Syllabus in Hindi

बिहार तकनीकी सेवा आयोग द्वारा सामान्य चिकित्सा अधिकारी और विशेष चिकित्सा अधिकारी के लिए के पदों के लिए भर्ती निकाली गई है। ऐसे मेँ आज हम आपके लिए इस भर्ती के पाठ्यक्रम और चयन प्रक्रिया से जुड़ी सभी जानकारी लेकर आए हैं। अगर आप इस भर्ती के लिए आवेदन करने वाले हैं तो ये आर्टिकल आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाला है। इस भर्ती से जुड़ी सभी जानकारी आप अधिकारी वेबसाईट www.btsc.bih.nic.in या www.pariksha.nic.in से भी प्राप्त कर सकते हैं। 

इसलिए Bihar BTSC GMO & SMO Syllabus and Selection Process in Hindi की जानकारी के लिए इस लेख को अंत तक पढ़ें। 

www.btsc.bih.nic.in | www.pariksha.nic.in

बिहार बीटीएससी जीएमओ & एसएमओ भर्ती पाठ्यक्रम के माध्यम से आप इस भर्ती के लिए अपने चयन को और भी सुदृढ़ कर सकते हैं। साथ बिहार बीटीएससी जीएमओ & एसएमओ भर्ती चयन प्रक्रिया के माध्यम से आपको इस भर्ती की चयन प्रक्रिया की पूरी जानकारी मिलेगी। 

बिहार बीटीएससी जीएमओ & एसएमओ भर्ती पाठ्यक्रम | Bihar BTSC GMO & SMO Syllabus in Hindi

एमबीबीएस में प्राप्तांक के लिए – 60 अंक 

स्नातकोत्तर अथवा उच्चतर डिग्री यथा, डी एम/एम सी एच एवं समकक्ष डिग्री (भारतीय चिकित्सा परिषद से मान्यता प्राप्त हो) के लिए – 15 अंक 

सरकारी अस्पतालों में नियमित/अनुबंध के आधार पर एमबीबीएस डिग्री धारक द्वारा नियुक्ति के उपरांत प्राप्त कार्यानुभव के लिए संतोषजनक सेवा के लिए अधिकतम 5 अंक प्रतिवर्ष के दर से अधिकतम 25 अंकों की अधिमानता (किसी वर्ष के अंश के लिए कार्य दिवसों की संख्या में 5 से गुणा करने के बाद 365 से भाग देकर प्राप्त आनुपातिक अंक जोड़ा जाएगा) – 25 अंक 

60 अंक 

15 अंक 

25 अंक 

—————–

कुल – 100 अंक 

BTSC GMO SMO Selection Process in Hindi

नोट – 

एमबीबीएस के लिए किसी अभ्यर्थी को प्रदान किये जाने वाले अंकों का अवधारणा उक्त कोर्स की परीक्षा में प्राप्त कुल अंकों के प्रतिशत को 0.6 के गुणक से गुणा करके होगा। यथा, यदि किन्हीं अभ्यर्थी द्वारा 50 प्रतिशत अंक प्राप्त किया गया है तो उन्हें 50*0.6=30 अंक दिए जाएंगे। 

विदेश से प्राप्त सभी डेगरीधारकों के एमबीबीएस प्राप्तांक की गणना 50 प्रतिशत पर की जानी है, बशर्ते कि उसका निबंधन एमसीआई से हो। 

बिहार बीटीएससी जीएमओ & एसएमओ चयन प्रक्रिया 

यदि विदेशी विश्वविद्यालयों से साढ़े 4 वर्षों का एमबीबीएस कोर्स एवं एक वर्ष का रोटेटिंग इंटर्नशिप किया गया है और यदि वह विदेशी विश्वविद्यालय एमसीआई से मान्यता प्राप्त है तो उनके डिग्री को मान्यता दी जाएगी तथा वैसे अभ्यर्थी सामान्य चिकित्सा पदाधिकारी के पद के लिए शैक्षणिक रूप से योग्य माने जाएंगे। इसके अतिरिक्त उपरोक्त एमबीबीएस की डिग्री एवं रोटेटिंग इंटर्नशिप के बाद यदि तीन वर्ष का एमडी / एम एस / दो वर्षों का डिप्लोमा कोर्स किया गया और यदि वह विदेशी विश्वविद्यालय एमसीआई से मान्यता प्राप्त है तो उनके डिग्री को मान्यता दी जाएगी। 

बिहार राज्य के अंतर्गत किसी भी गैर निजी अस्पतालों यथा केंद्र सरकार नगर पालिका, पंचायती राज संसाथनों एवं अन्य लोक संस्थानों सैनिक अस्पताल सहित में संविदा/नियमित रूप से कार्यरत चिकित्सक/सीनियर रेजिडेंट/टूटर/जूनियर रेजिडेंट को कार्य अनुभव के लिए अंक दिया जाएगा। 

कार्य अनुभव प्रमाण पत्र देने हेतु सक्षम प्राधिकार संबंधित संस्थान के नियंत्री पदाधिकारी होंगे। 

ऑनलाइन आवेदन करने के लिए यहाँ क्लिक करें। 

Leave a Comment