उत्तराखंड फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर पाठ्यक्रम 2021

UKPSC Forest Range Officer 2021 Syllabus in Hindi : उत्तराखंड लोक सेवा आयोग द्वारा वन क्षेत्राधिकारी (फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर) 2021 की भर्ती निकाली गई है। आज हम इस लेख में उत्तराखंड फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर पाठ्यक्रम 2021 के बारे में विस्तार से जानेंगे। अगर आप इस भर्ती के लिए आवेदन करने वाले हैं तो उत्तराखंड फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर पाठ्यक्रम 2021 से आपको भलीभाँति परिचित होना चाहिए।

उत्तराखंड फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर पाठ्यक्रम 2021

उत्तराखंड फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर पाठ्यक्रम, परीक्षा पैटर्न और चयन प्रक्रिया 2021

इस लेख में आपको न सिर्फ उत्तराखंड फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर पाठ्यक्रम बल्कि परीक्षा पैटर्न और चयन प्रक्रिया से संबंधित भी सभी जानकारी मिलेगी। अगर आप इस परीक्षा को लेकर गंभीर हैं तो आपको जरूर ही ये आर्टिकल अंतिम तक पढ़ना होगा और अपनी तैयारी की तरफ एक मजबूत कदम बढ़ाना होगा।

UKPSC Forest Range Officer 2021 Syllabus in Hindi

उत्तराखंड फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर पाठ्यक्रम 2021 को जानने से पहले हम इस भर्ती के परीक्षा पैटर्न पर थोड़ा प्रकाश डालेंगे जिससे कि अपको पाठ्यक्रम समझने में थोड़ी आसानी हो सके।

उत्तराखंड फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर पाठ्यक्रम 2021 : परीक्षा पैटर्न

उत्तराखंड वन क्षेत्राधिकारी पाठ्यक्रम : उत्तराखंड फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर के परीक्षा पैटर्न की बात करें तो इसमें कुल मिलकर 2 परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी।

  1. प्रारम्भिक परीक्षा (बहुविकल्पीय)
  2. मुख्य परीक्षा (लिखित)

1. प्रारम्भिक परीक्षा (बहुविकल्पीय)

  • प्रारम्भिक परीक्षा में बहुविकल्पीय प्रकार के प्रश्न पूछे जाएंगे।
  • इसमें सिर्फ सामान्य अध्ययन और सामान्य बुद्धि परीक्षण विषय से प्रश्न पूछे जाएंगे।
  • सामान्य अध्ययन से कुल 100 प्रश्न आएंगे।
  • सामान्य बुद्धि परीक्षण से 50 प्रश्न पूछे जाएंगे।
  • प्रारम्भिक परीक्षा के लिए कुल 2 घंटे (120 मिनट) का समय मिलेगा।
  • प्रत्येक गलत उत्तर के लिए एक चौथाई अंकों की कटौती की जाएगी।
विषय प्रश्नों की संख्या कुल अंक
सामान्य अध्ययन 100 100
सामान्य बुद्धि परीक्षण 50 50
कुल  150  150

2. मुख्य परीक्षा (लिखित)

  • यह परीक्षा लिखित अर्थात कलम और कॉपी पर आधारित होगी।
  • मुख्य परीक्षा में कुल 5 विषय होंगे।
  • जिसमें 3 विषय अनिवार्य जबकि 2 वैकल्पिक विषय होंगे।
  • प्रत्येक विषय के लिए आपको 3 घंटे का समय दिया जाएगा।
विषय अधिकतम अंक  समय
सामान्य ज्ञान (अनिवार्य) 100 3 घंटे
अंग्रेजी (अनिवार्य) 100 3 घंटे
सामान्य हिन्दी (अनिवार्य) 100  3 घंटे
प्रथम वैकल्पिक विषय 200 3 घंटे
द्वितीय वैकल्पिक विषय 200 3 घंटे
साक्षात्कार  75 अंक 
कुल अंक  775 
  राजस्थान ग्राम सेवक सिलेबस 2021 | Rajasthan VDO (Gram Sevak) Syllabus 2021 in Hindi

उत्तराखंड फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर पाठ्यक्रम 2021 : प्रारम्भिक परीक्षा

UKPSC Forest Range Officer 2021 Syllabus in Hindi : उत्तराखंड फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर भर्ती की प्रारम्भिक परीक्षा में कुल मिलाकर 2 विषय हैं।

  1. सामान्य अध्ययन
  2. सामान्य बुद्धि परीक्षण

सबसे पहले हम सामान्य अध्ययन के पाठ्यक्रम को जानेंगे।

(A) सामान्य अध्ययन

1. सामान्य विज्ञान एवं कंप्यूटर से संबंधित आधारभूत जानकारी :

सामान्य विज्ञान एवं कंप्यूटर संचालन की आधारभूत जानकारी सम्बन्धी प्रश्न विज्ञान एवं कंप्यूटर की सामान्य समझ एवं दैनिक जीवन में इनके अनुप्रयोग, प्रेक्षण एवं अनुभव पर आधारित होंगे, जो कि ऐसे शिक्षित व्यक्ति से अपेक्षित हैं जिसका विज्ञान या कंप्यूटर की किसी भी शाखा में विशेष अध्ययन न हो।

2. भारत का इतिहास तथा भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन :

भारत का इतिहास तथा भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन के अन्तर्गत प्रश्न; प्राचीन, मध्यकालीन एवं आधुनिक भारतीय इतिहास के राजनैतिक, सामाजिक, आर्थिक एवं सांस्कृतिक पहलुओं की व्यापक जानकारी तथा भारत के स्वतंत्रता आन्दोलन, राष्ट्रवाद के विकास एवं स्वतंत्रता प्राप्ति पर आधारित होंगे।

3. भारतीय राज्य व्यवस्था एवं अर्थव्यवस्था :

भारतीय राज्य व्यवस्था एवं अर्थव्यवस्था के अन्तर्गत प्रश्न; भारतीय राज्यव्यवस्था, संविधान, पंचायती राज और सामुदायिक विकास तथा भारतीय अर्थव्यवस्था एवं नियोजन की व्यापक विशेषताओं की समझ पर आधारित होंगे।

4. भारत का भूगोल एवं जनांकिकी :

इसके अन्तर्गत प्रश्न भारत के भौगोलिक पारस्थितिकीय और सामाजिक-आर्थिक जनांकिकीय पक्षों की व्यापक समझ पर आधारित होंगे।

5. सम-सामयिक घटनाएं :

इसके अन्तर्गत प्रश्न समसामयिक उत्तराखण्ड राज्यीय तथा राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय महत्व की घटनाओं खेलकूद सहित की समझ पर आधारित होंगे।

6. उत्तराखण्ड का इतिहास :

उत्तराखण्ड की ऐतिहासिक पृष्ठभूमिः प्राचीनकाल (आरम्भ से 1200 ई0 तक): मध्यकाल (1200 से 1815 ई0 तक): प्रभावशाली राजवंश एवं उनकी उपलब्धियाँ, गोरखा आक्रमण एवं शासन, ब्रिटिश शासन, टिहरी रियासत एवं उसकी शासन व्यवस्था, स्वतंत्रता आन्दोलन में उत्तराखण्ड की भूमिका और इससे सम्बन्धित प्रमुख विभूतियाँ, प्रमुख ऐतिहासिक स्थल एवं स्मारक, उत्तराखण्ड राज्य निर्माण आन्दोलन, उत्तराखण्ड के लोगों का राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय क्षेत्रों में; विशेष रूप से सशस्त्र बलों में योगदान; विभिन्न समाज सुधार आन्दोलन तथा अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, बच्चों, दलितों एवं महिलाओं हेतु उत्तराखण्ड शासन के विभिन्न कल्याणकारी कार्यक्रम।

7. उत्तराखण्ड की संस्कृति :

जातियां एवं जनजातियां, धर्म एवं लोक विश्वास, साहित्य, लोक साहित्य, परम्पराएं एवं रीति-रिवाज, वेश-भूषा एवं आभूषण, मेले एवं त्यौहार, खान-पान, कला शिल्प ; नृत्य, गायन एवं वाद्य यंत्र, प्रमुख पर्यटन-स्थल, महत्वपूर्ण खेलकूद, प्रतियोगिताएं एवं पुरस्कार, उत्तराखण्ड के प्रसिद्ध लेखक एवं कवि तथा उनका हिन्दी-साहित्य एवं लोक-साहित्य में योगदान, उत्तराखण्ड शासन द्वारा संस्कृति के विकास हेतु उठाए गए कदम ।

8. उत्तराखण्ड का भूगोल एवं जनांकिकीः

भौगोलिक स्थिति। उत्तराखण्ड हिमालय की प्रमुख विशेषताएं। उत्तराखण्ड में नदियां, पर्वत, जलवायु, वन संसाधन एवं बागवानी । प्रमुख फसलें एवं फसल चक। सिंचाई के साधन। कृषि जोतें। प्राकृतिक एंव मानव जनित आपदायें एवं आपदा प्रबन्धन । जल संकट और जलागम प्रबन्धन । दूरस्थ क्षेत्रों की समस्याऐं। पर्यावरण एवं पर्यावरणीय आन्दोलन। जैव विविधता एवं इसका संरक्षण । उत्तराखण्ड की जनसंख्याः वर्गीकरण, धनत्व, लिंगानुपात, साक्षरता एवं जनसंख्या पलायन।

  आईडीबीआई बैंक एग्जीक्यूटिव पाठ्यक्रम 2021 | IDBI Bank Executive Syllabus 2021 in Hindi

9. उत्तराखण्ड का राजनीतिक एवं प्रशासनिक परिवेश :

उत्तराखण्ड में गठित सरकारें एवं उनकी नीतियाँ, राज्य की विभिन्न प्रकार की सेवाएं, प्रदेश की राजनैतिक एवं प्रशासनिक व्यवस्था, पंचायती राज, सामुदायिक विकास तथा सहकारिता ।

10. उत्तराखण्ड का प्रशासनिक व्यवस्था की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि :

गोरखा एवं ब्रिटिश शासन काल में भूमि सम्बन्धी व्यवस्थाएँ- जिला भूमि प्रबन्धन (थोकदारी, वन पंचायतें, सिविल एवं सोयम वन केशर हिन्द (बेनाप भूमि) नजूल, नयाबाद बन्दोबस्त)। आधुनिक काल- उत्तर प्रदेश एवं कुमाऊँ-उत्तराखण्ड जमींदारी विनाश एवं भूमि व्यवस्था अधिनियम लागू होने के बाद भूमि-सुधार, लैंड टैन्योर में परिर्वतन, लगान वसूली व्यवस्था। राजस्व पुलिस-व्यवस्था ।

11. उत्तराखण्ड का आर्थिक परिवेश :

सीमान्त जनपदों का प्राचीन काल में तिब्बत से व्यापार एवं व्यापार की वर्तमान स्थिति, स्थानीय कृषि, पशुपालन, कृषि जोतों की अलाभकर स्थिति व चकबंदी की आवश्यकता, बेगार तथा डडवार प्रथा।

12. आर्थिक व प्राकृतिक संसाधन :

मानव संसाधन, प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था एवम् प्रमुख शिक्षण संस्थान; वन, जल, जडी-बूटी, कृषि, पशुधन, जलल-विद्युत, खनिज, पर्यटन, उद्योग (लघु व ग्रामीण) संसाधनों के उपयोग की स्थिति। उत्तराखण्ड में गरीबी व बेरोजगारी, उन्मूलन व आर्थिक विकास की दिशा में चलाई जा रही विभिन्न योजनाएँ/ आर्थिक क्रियायें एवं इनका राज्य जी0 डी0 पी0 में योगदान, उत्तराखण्ड में विकास की प्राथमिकतायें व नियोजन की नवीन रणनीति तथा समस्याएँ। उत्तराखण्ड में विपणन की सुविधाएं तथा कृषि मन्डियां, उत्तराखण्ड के बजट की प्रमुख विशेषताएँ।

(B) सामान्य बुद्धि परीक्षण

1. सामान्य बुद्धिमता :

इसके अन्तर्गत प्रश्न सामान्य बुद्धिमता से संबंधित जैसे शाब्दिक और गैर-शाब्दिक दोनों प्रकार के प्रश्न होंगे और इसमें सादृश्यों, समानताओं तथा अंतरों, स्थानिक कल्पना, समस्या, समाधान, विश्लेषण, निर्णय लेना, दृश्य स्मृति, विभेद, अवलोकन, संबंध अवधारणा, अंकगणितीय तर्क, शाब्दिक एवं चित्रात्मक वर्गीकरण, अंकगणितीय संख्या श्रृंखला आदि सम्मिलित होंगे।

इसमें अभ्यर्थी की योग्यता का सामान्य विचार और संकेत और उनके संबंध, अंकगणितीय गणना तथा अन्य विश्लेषणात्मक कार्य आदि के प्रश्न भी शामिल होंगे।

उत्तराखंड फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर पाठ्यक्रम 2021 : मुख्य परीक्षा

1. सामान्य ज्ञान (अनिवार्य विषय)

सामान्य ज्ञान के प्रश्न पत्र में राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय महत्व की सामयिक घटनाओं, भारत का इतिहास भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन, भारत का
संविधान, प्रतिदिन अवलोकन एवं अनुभव के विषय सहित विज्ञान की सामान्य जानकारी तथा समझ जिसकी एक शिक्षित व्यक्ति से अपेक्षा की जाती है, से संबंधित प्रश्न सम्मिलित होंगे।

प्रकृति का भूगोल, उत्तराखण्ड में स्थानीय स्वशासन सहित राजनैतिक प्रणाली तथा भारतीय अर्थव्यवस्था।

नोट:- इस प्रश्न पत्र में 10 प्रश्न होगें। प्रत्येक प्रश्न 10 अंक का होगा। सभी प्रश्न अनिवार्य हैं।

2. अंग्रेजी (अनिवार्य विषय)

1. निम्नलिखित विषयों में से किसी एक विषय पर लगभग 400 शब्दों में एक निबन्ध लिखें।
विज्ञान और प्रौद्योगिकी और पर्यावरण 20 अंक
साहित्य और संस्कृति
आर्थिक विकास एवं नियोजन
उत्तराखण्ड के सामाजिक एवं राजनीतिक क्षेत्र
राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय मुद्दे
प्राकृतिक आपदा
2. संक्षेपण (05 + 10 अंक)
3. पत्र लेखन
सरकारी पत्र (10 + 10 अंक)
अर्द्ध सरकारी पत्र तार
सरकारी आदेश
सूचना
परिपत्र/कार्यालय ज्ञाप
4. शब्द
समानार्थी शब्द 5 अंक
विलोम शब्द 5 अंक
वाक्यांश के लिए एक शब्द 5 अंक
5. प्रयोग
मुहावरे (05 अंक)
वाक्यांश
6. व्याकरण प्रयोग (10+10+5 अंक)
शब्द खण्ड (10 अंक)
वाक्य परिवर्तन एवं वाक्यों का संयोजन (10 अंक)
विराम चिह्न (05 अंक)
  उत्तराखंड फॉरेस्ट गार्ड सिलेबस 2021 | UKSSSC Forest Guard Syllabus 2021 in Hindi

3. सामान्य हिन्दी

टॉपिक अंक
(1) प्रश्न-पत्र में दिये गये गद्यखण्ड का अवबोध एवं प्रश्नोत्तर। (10 + 5 = 15)
(2) संक्षेपण। (5 +10 = 15)
(3) सरकारी एवं अर्द्धसरकारी पत्र लेखन, तार, कार्यालय आदेश, अधिसूचना, परिपत्र। (10 +10 = 20)
(4) शब्द ज्ञाान एवं प्रयोग-

  • (अ) उपसर्ग एवं प्रत्यय
  • (आ) विलोम शब्द
  • (इ) वाक्यांश के लिए एक शब्द
  • (ई) वर्तनी एवं वाक्याशुद्धि।
20
(5) लोकोक्ति एवं मुहावरें। 20
(6) कम्प्यूटर और हिन्दी। (सरकारी कामकाज में हिन्दी क्षेत्र में कम्प्यूटर की उपयोगिता एवं आवश्यकता) 10
नोट:- अनिवार्य विषय सामान्य हिन्दी प्रश्न-पत्र में न्यूनतम 35 % अंक प्राप्त करना अनिवार्य होगा।

UKPSC Forest Range Officer 2021 Syllabus in Hindi : वैकल्पिक विषय

निम्नलिखित में से कोई 2 (दो) विषय जिसमें प्रत्येक विषय के 200 अंक हैं :

  1. कृषि
  2. वनस्पति विज्ञान
  3. रसायन शास्त्र
  4. कम्प्यूटर एप्लीकेशन/ कम्प्यूटर विज्ञान
  5. इन्जीनियरिंग (अभियांत्रिकी) कृषि/रसायन/सिविल / कम्प्यूटर/ इलैक्ट्रिकल / इलैक्ट्रॉनिक्स/ मैकेनिकल
  6. पर्यावरणीय विज्ञान
  7. वानिकी
  8. भू-विज्ञान
  9. उद्यान विज्ञान
  10. गणित
  11. भौतिकी
  12. सांख्यिकी
  13. पशु चिकित्सा विज्ञान
  14. प्राणी विज्ञान
  • प्रत्येक वैकल्पिक विषय जो 200 अंक का है, का एक प्रश्न पत्र होगा जिसकी अवधि 3.00 घंटा होगी। प्रत्येक प्रश्न पत्र में दो भाग होंगे जिसके प्रत्येक भाग में चार प्रश्न होंगे।
  • अभ्यर्थी को कुल पाँच प्रश्नों के उत्तर देने होंगे। प्रश्न पत्र के प्रत्येक भाग से न्यूनतम दो प्रश्नों का उत्तर देना अनिवार्य होगा। प्रत्येक विषय का स्तर एवं पाठ्यकम सामान्यतः विश्वविद्यालय की डिग्री परीक्षा के समान होगा।

अभ्यर्थी को उपरोक्त वैकल्पिक विषयों में से किन्हीं दो का चयन करना है किन्तु निम्नलिखित विषयों के एक साथ चयन की अनुमति नही होगी-

  • (क) कृषि, कृषि अभियांत्रिकी,पशु चिकित्सा विज्ञान
  • (ख) रसायन विज्ञान एवं रसायन अभियांत्रिकी
  • (ग) कम्प्यूटर अनुप्रयोग, कम्प्यूटर विज्ञान एवं कम्प्यूटर अभियांत्रिकी
  • (घ) विद्युत अभियांत्रिकी एवं इलैक्ट्रानिक अभियांत्रिकी
  • (ड) गणित एवं सांख्यिकी

Leave a Comment